banner
May 21, 2021
59 Views
0 0

Mafi Sorry Shayari – Tu Lakh Khafaa Ho

Written by
banner

Bahut Udas Hai Koyi Shakhs Tere Jane Se,
Ho Sake To Lout Ke Aaja Kisi Bahane Se,
Tu Lakh Khafaa Ho Par Ek Bar To Dekh Le,
Koyi Bikhar Gaya Hai Tere Rooth Jane Se.
बहुत उदास है कोई शख्स तेरे जाने से,
हो सके तो लौट के आजा किसी बहाने से,
तू लाख खफा हो पर एक बार तो देख ले,
कोई बिखर गया है तेरे रूठ जाने से।

Iss Kadar Mere Pyaar Ka Imtehaan Na Lijiye,
Khafaa Ho Kyu Mujhse Yeh Bataa To Dijiye,
Maaf Kar Do Gar Ho Gayi Ho Humse Koi Khata,
Par Yaad Na Karke Humein Saza To Na Dijiye.
इस कदर मेरे प्यार का इम्तेहान न लीजिये,
खफा हो क्यूँ मुझसे यह बता तो दीजिये,
माफ़ कर दो गर हो गयी हो हमसे कोई खता,
पर याद न करके हमें सजा तो न दीजिये।

Aaj Maine Khud Se Ek Wada Kiya Hai,
Maafi Manguga Tujhse Tujhe Ruswa Kiya Hai,
Har Mod Par Rahunga Main Tere Saath Saath,
Anjaane Mein Maine Tujhko Bahut Dard Diya Hai.
आज मैंने खुद से एक वादा किया है,
माफ़ी मांगूंगा तुझसे तुझे रुसवा किया है,
हर मोड़ पर रहूँगा मैं तेरे साथ साथ,
अनजाने में मैंने तुझको बहुत दर्द दिया है।

Dhadkan Banke Jo Dil Mein Samaa Gaye Hain,
Har Ek Pal Unki Yaad Mein Bitate Hain,
Aansu Nikal Aaye Jab Wo Yaad Aa Gaye,
Jaan Nikal Jati Hai Jab Wo Ruth Jaate Hain.
धड़कन बनके जो दिल में समा गए हैं,
हर एक पल उनकी याद में बिताते हैं,
आंसू निकल आये जब वो याद आ गए,
जान निकल जाती है जब वो रूठ जाते हैं।

Article Categories:
Mafi Sorry Shayari
banner

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

The maximum upload file size: 32 MB. You can upload: image, audio, video, document, text, other. Links to YouTube, Facebook, Twitter and other services inserted in the comment text will be automatically embedded.