banner
May 20, 2021
13 Views
0 0

Life Zindagi Shayari – Zindgi Tu Hi Bata

Written by
banner

Ab Toh Apni Tabiyat Bhi Juda Lagti Hai,
Saans Leta Hun Toh Zakhmo Ko Hawa Lagti Hai,
Kabhi Razi Toh Kabhi Mujse Khafa Lagti Hai,
Zindgi Tu Hi Bata Tu Meri Kya Lagti Hai.
अब तो अपनी तबियत भी जुदा लगती है,
सांस लेता हूँ तो ज़ख्मों को हवा लगती है,
कभी राजी तो कभी मुझसे खफा लगती है,
जिंदगी तू ही बता तू मेरी क्या लगती है।

Hans Kar Jeena Dastoor Hai Zindgi Ka,
Ek Yehi Kissa MashHoor Hai Zindgi Ka,
Beete Huye Pal Kabhi Laut Kar Nahi Aate,
Yehi Sabse Bada Kasoor Hai Zindgi Ka.
हँसकर जीना दस्तूर है ज़िंदगी का,
एक यही किस्सा मशहूर है ज़िंदगी का,
बीते हुए पल कभी लौट कर नहीं आते,
यही सबसे बड़ा कसूर है ज़िंदगी का।

Zindagi Woh Jo Khwabo-Khayalon Mein Hai,
Woh Toh Shayad Mayassar Na Hogi Kabhi,
Yeh Jo Likhi Hui Inn Lakeeron Mein Hain,
Ab Isee Zindgaani Ke Ho Jayein Kya.
ज़िन्दगी वो जो ख्वाबों-ख्यालों में है,
वो तो शायद मयस्सर न होगी कभी,
ये जो लिक्खी हुई इन लकीरों में है,
अब इसी ज़िन्दगानी के हो जाएँ क्या।

Article Categories:
Life Zindagi Shayari
banner

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

The maximum upload file size: 32 MB. You can upload: image, audio, video, document, text, other. Links to YouTube, Facebook, Twitter and other services inserted in the comment text will be automatically embedded.