banner
May 20, 2021
36 Views
0 0

Life Zindagi Shayari – Zindgi Se Puchhiye

Written by
banner

Zindgi Se Puchhiye Yeh Kya Chahti Hai,
Bas Ek Aapki Wafa Chahti Hai,
Kitni Masoom Aur Nadaan Hai Yeh,
Khud Bewafa Hai Aur Wafa Chahti Hai.
ज़िन्दगी से पूछिये ये क्या चाहती है,
बस एक आपकी वफ़ा चाहती है,
कितनी मासूम और नादान है ये,
खुद बेवफा है और वफ़ा चाहती है।

Khushi Mein Bhi Aankhein Aansu Bahati Rahi,
Jara Si Baat Der Tak Rulaati Rahi,
Koi Kho Ke Mil Gaya Toh Koi Mil Ki Kho Gaya,
Zindgi Humko Bas Aise Hi Aazmaati Rahi.
खुशी में भी आँखें आँसू बहाती रही,
जरा सी बात देर तक रुलाती रही,
कोई खो के मिल गया तो कोई मिल के खो गया,
ज़िंदगी हम को बस ऐसे ही आज़माती रही।

Kal Na Hum Honge Na Koi Gila Hoga,
Sirf Simti Hui Yaadon Ka Silsila Hoga,
Jo Lamhe Hain Chalo Haskar Bita Le,
Jaane Kal Zindgi Ka Kya Faisla Hoga.
कल न हम होंगे न कोई गिला होगा,
सिर्फ सिमटी हुयी यादों का सिलसिला होगा,
जो लम्हे हैं चलो हँसकर बिता दें,
जाने कल जिंदगी का क्या फैसला होगा।

Article Categories:
Life Zindagi Shayari
banner

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

The maximum upload file size: 32 MB. You can upload: image, audio, video, document, text, other. Links to YouTube, Facebook, Twitter and other services inserted in the comment text will be automatically embedded.