banner
May 20, 2021
40 Views
0 0

Khwaab Shayari – Khwaab Aankhon Se Gaye

Written by
banner

Khuda Ka Shukr Hai Ki Usne Khwaab Bana Diye,
Varna Tumhen Dekhne Ki Hasrat Rah Hi Jaati.

खुदा का शुक्र है कि उसने ख्वाब बना दिये,
वरना तुम्हें देखने की हसरत रह ही जाती।

Koi Bataega Kaise Dafnaate Hain Unko,
Wo Khwaab Jo Dil Mein Hi Mar Jate Hain.

कोई बताएगा कैसे दफनाते हैं उनको,
वो ख्वाब जो दिल में ही मर जाते हैं।

Toot Kar Rooh Mein Sheeshon Ki Tarah Chubhte Hain,
Phir Bhi Har Aadmi Khwaabon Ka Tamannai Hai.

टूट कर रूह में शीशों की तरह चुभते हैं,
फिर भी हर आदमी ख़्वाबों का तमन्नाई है।

Khwaab Aankhon Se Gaye, Neend Raaton Se Gayi,
Wo Gaya To Aise Laga, Zindagi Haantho Se Gayi.

ख़्वाब आँखों से गए, नींद रातों से गई,
वो गया तो ऐसे लगा, ज़िंदगी हाँथो से गई।

Aaj Dil Ne Tere Deedaar Ki Khwaahish Rakhi Hai,
Mile Agar Fhursat To Khwaabon Me Aa Jana.

आज दिल ने तेरे दीदार की ख्वाहिश रखी है,
मिले अगर फुरसत तो ख्वाबों मे आ जाना।

Khwaab Jhoothe Hain Aur Ye Khvaahishen Adhoori Hain,
Magar Jinda Rahane Ke Liye Kuchh Galatfhamiyan Bhi Jaroori Hai.

ये ख्वाब झूठे हैं और ये ख्वाहिशें अधूरी हैं,
मगर जिंदा रहने के लिए कुछ गलतफहमियां भी जरूरी है।

Article Categories:
Khwaab Shayari
banner

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

The maximum upload file size: 32 MB. You can upload: image, audio, video, document, text, other. Links to YouTube, Facebook, Twitter and other services inserted in the comment text will be automatically embedded.