banner
May 17, 2021
23 Views
0 0

Inspirational Shayari – Raah Sangharsh Ki

Written by
banner

Jo Muskura Raha Hai Use Dard Ne Pala Hoga,
Jo Chal Raha Hai Uske Paav Mein Chhala Hoga,
Bina Sangharsh Ke Insaan Chamak Nahi Sakta.
Jo Jalega Usi Diye Mein Toh Ujala Hoga.
जो मुस्कुरा रहा है उसे दर्द ने पाला होगा,
जो चल रहा है उसके पाँव में छाला होगा,
बिना संघर्ष के इन्सान चमक नही सकता,
जो जलेगा उसी दिये में तो उजाला होगा।

Raah Sangharsh Ki Jo Chalta Hai,
Woh Hi Sansar Ko Badlta Hai,
Jisne Raaton Se Jang Jeeti Hai,
Surya Ban Kar Wohi Nikalta Hai.
राह संघर्ष की जो चलता है,
वो ही संसार को बदलता है,
जिसने रातों से जंग जीती है,
सूर्य बनकर वही निकलता है।

Sangharsh Mein Aadmi Akela Hota Hai,
Safalta Mein Duniya Uske Saath Hoti Hai,
Jab-Jab Jag Kisi Par Hansa Hai,
Tab-Tab Usi Ne Itihaas Racha Hai.
संघर्ष में आदमी अकेला होता है,
सफलता में दुनिया उसके साथ होती है,
जब-जब जग किसी पर हँसा है,
तब-तब उसी ने इतिहास रचा है।

Article Categories:
Inspirational Shayari
banner

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

The maximum upload file size: 32 MB. You can upload: image, audio, video, document, text, other. Links to YouTube, Facebook, Twitter and other services inserted in the comment text will be automatically embedded.