banner
May 17, 2021
14 Views
0 0

Inspirational Shayari – Bulandi Pe Thhehrana

Written by
banner

Najar-Najar Mein Utarna Kamaal Hota Hai,
Nafas-Nafas Mein Bikharna Kamaal Hota Hai,
Bulandiyon Pe Pahuchna Koi Kamaal Nahi,
Bulandiyon Pe Thhehrana Kamaal Hota Hai.
​​​नज़र-नज़र में उतरना कमाल होता है,
नफ़स-नफ़स में बिखरना कमाल होता है,
बुलंदियों पे पहुँचना कोई कमाल नहीं,
बुलंदियों पे ठहरना कमाल होता है।

Intezar Kis Pal Ka Kiye Jate Ho Yaaro,
Pyaason Ke Paas Samandar Nahi Aane Wala,
Lagi Hai Pyaas Toh Chalo Ret Hi Nichodi Jaye,
Apne Hisse Mein Samundar Nahi Aane Wala.
इंतजार किस पल का किये जाते हो यारों,
प्यासों के पास समंदर नही आने वाला,
लगी है प्यास ​तो ​चलो रेत निचोड़ी जाए​,​
अपने हिस्से में समंदर नहीं आने वाला​।

Jo Na Poora Ho Use Armaan Kehte Hai,
Jo Na Badle Use Imaan Kehte Hai,
Zindagi Mushkilon Mein Bhale Hi Beet Jaye,
Par Jo Nahi Jhukta Use Insaan Kehte Hai.
जो न पूरा हो उसे अरमान कहते हैं,
जो न बदले उसे ईमान कहते हैं,
जिंदगी मुश्किलों में भले ही बीत जाये,
पर जो न झुके उसे इंसान कहते हैं।

Tum Yahan Dharti Pe Lakeerein Kheenchte Ho,
Hum Wahan Apne Liye Naye Aasmaan Dhoodte Hain,
Tum Banate Jate Ho Pinjre Pe Pinjra,
Hum Apne Pankhon Mien Nayi Udaan Dhoodte Hain.
तुम यहाँ धरती पर लकीरें खींचते हो​,
हम वहाँ अपने लिये नये आसमान ढूंढते हैं,
​तुम बनाते जाते हो पिंजड़े पे पिंजड़ा​,
हम अपने पंखों में ​नयी उड़ान ढूंढते हैं।

Article Categories:
Inspirational Shayari
banner

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

The maximum upload file size: 32 MB. You can upload: image, audio, video, document, text, other. Links to YouTube, Facebook, Twitter and other services inserted in the comment text will be automatically embedded.