banner
May 16, 2021
30 Views
0 0

Hindi Shayari – Phool Isliye Achchhe Hain

Written by
banner

Phool Isliye Achhe Hain Ki Khushbu Ka Paigam Dete Hain,
Kaante Islite Achhe Hai Ki Daaman Thaam Lete Hain,
Dost Isliye Achhe Hain Ki Woh Mujh Par Jaan Dete Hain,
Aur Dushmano Ko Main Kaise Kharab Keh Doon…
Woh Hi Toh Hain Ho Mehfil Mein Mera Naam Lete Hain.
फूल इसलिये अच्छे कि खुश्बू का पैगाम देते हैं,
कांटे इसलिये अच्छे कि दामन थाम लेते हैं,
दोस्त इसलिये अच्छे कि वो मुझ पर जान देते हैं,
और दुश्मनों को मैं कैसे खराब कह दूं…
वो ही तो हैं जो महफिल में मेरा नाम लेते हैं।

Agar Toote Kisi Ka Dil Toh Shab Bhar Aankh Roti Hai,
Ye Duniya Hai Gulon Ki Jism Mein Kaante Piroti Hai,
Hum Milte Hain Apne Gaanv Mein Dushman Se Bhi Ithhlakar,
Tumhara Shahar Dekha Toh Badi Takleef Hoti Hai.
अगर टूटे किसी का दिल तो शब भर आँख रोती है,
ये दुनिया है गुलों की जिस्म में काँटे पिरोती है,
हम मिलते हैं अपने गाँव में दुश्मन से भी इठलाकर,
तुम्हारा शहर देखा तो बड़ी तकलीफ होती है।

Article Categories:
Hindi Shayari
banner

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

The maximum upload file size: 32 MB. You can upload: image, audio, video, document, text, other. Links to YouTube, Facebook, Twitter and other services inserted in the comment text will be automatically embedded.