banner
May 15, 2021
18 Views
0 0

Funny Shayari – Whatsapp Group Admin

Written by
banner

Usi Din Se Whatsapp Se Nafrat Ho Gayi Ghalib,
Jab Baal Katwane Ke Liye Admin Ne Chanda Maang Liya.
उसी दिन से व्हाट्सएप्प से नफरत हो गयी ग़ालिब,
जब बाल कटवाने के लिए एडमिन ने चंदा माँग लिया।

Dil Mein Koi Gham Nahi Baaton Mein Koi Dam Nahi,
Yeh Grup Hai Nawabon Ka Yehan Koi Kisi Se Kam Nahi.
दिल में कोई गम नहीं बातों में कोई दम नहीं,
ये ग्रुप है नवाबो का यहाँ कोई किसीसे कम नहीं।

Humari Kismat Hi Kuchh Aisi Nikli Ghalib,
Zameen Mili Toh Banjar Aur Admin Mila Toh Kanjar.
हमारी किस्मत ही कुछ ऐसी निकली ग़ालिब,
ज़मीन मिली तो बंजर और एडमिन मिला तो कंजर।

Na Chheda Karo Baat-Baat Pe Admin Ko Yaaro,
Sar-e-Group Uski Be-izzati Kharab Hoti Hai.
न छेड़ा करो बात बात पे एडमिन को यारो,
सर-ए-ग्रुप उसकी बेईज्जती खराब होती है।

नोट:- अपने ग्रुप-एडमिन की बेइज्जती अपने बल-बूते और अपने रिस्क पर करे।

Article Categories:
Funny Shayari
banner

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

The maximum upload file size: 32 MB. You can upload: image, audio, video, document, text, other. Links to YouTube, Facebook, Twitter and other services inserted in the comment text will be automatically embedded.