banner
May 14, 2021
18 Views
0 0

Friendship Shayari – Dosti Se Badi Ibaadat

Written by
banner

रिश्तों से बड़ी चाहत और क्या होगी,
दोस्ती से बड़ी इबादत और क्या होगी,
जिसे दोस्त मिल सके कोई आप जैसा,
उसे ज़िन्दगी से कोई और शिकायत क्या होगी।
Rishton Se Badi Chahat Aur Kya Hogi,
Dosti Se Badi Ibaadat Aur Kya Hogi,
Jise Dost Mil Sake Koyi Aap Jaisa,
Use Zindagi Se Koyi Aur Shikayat Kya Hogi.

खामोशियों में धीमी सी आवाज़ है,
तन्हाईयों में भी एक गहरा राज़ है,
मिलते नही हैं सबको अच्छे दोस्त यहाँ,
आप जो मिले हो हमें खुद पर नाज़ है।
Khamoshiyon Mein Dheemi Si Aawaaz Hai,
Tanhaiyon Mein Bhi Ek Gehra Raaz Hai.
Milte Nahin Hai Sabko Achchhe Dost Yahan.
Aap Jo Mile Ho Humein Khud Par Naaz Hai.

दुनियादारी में हम थोड़े कच्चे हैं,
पर दोस्ती के मामले में सच्चे हैं,
हमारी सच्चाई बस इस बात पर कायम है,
कि हमारे दोस्त हमसे भी अच्छे हैं।
Duniyadari Mein Hum Thode Kachche Hain,
Par Dosti Ke Maamle Mein Sachche Hain,
Humari Sachchai Bas Iss Baat Par Kayam Hai,
Ki Humare Dost Humse Bhi Achchhe Hain.

Article Categories:
Friendship Shayari
banner

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

The maximum upload file size: 32 MB. You can upload: image, audio, video, document, text, other. Links to YouTube, Facebook, Twitter and other services inserted in the comment text will be automatically embedded.