banner
May 13, 2021
22 Views
0 0

Friendship Dosti Shayari – Dosti Tere Naam Kar Du

Written by
banner

Har Khushi Se Khoobsurat Teri Sham Kar Du,
Apna Pyaar Aur Dosti Tere Naam Kar Du,
Mil Jaye Agar Dobara Yeh Zindgi Ai Dost,
Har Baar Main Ye Zindgi Tujh Par Qurban Kar Du.
हर ख़ुशी से ख़ूबसूरत तेरी शाम कर दूँ,
अपना प्यार और दोस्ती तेरे नाम कर दूँ,
मिल जाये अगर दुबारा यह ज़िन्दगी दोस्त,
हर बार मैं ये ज़िन्दगी तुझ पर कुर्बान कर दूँ।

Hum Dost Banakar Kisi Ko Rulate Nahi,
Dil Me Basakar Kisi Ko Bhulate Nahi,
Hum To Dost Ke Liye Jaan Bhi De Sakte Hain,
Par Log Sochte Hain Hum Dosti Nibhaate Nahi.
हम दोस्त बनाकर किसी को रुलाते नही,
दिल में बसाकर किसी को भुलाते नही,
हम तो दोस्त के लिए जान भी दे सकते हैं,
पर लोग सोचते हैं की हम दोस्ती निभाते नहीं।

Andhero Ke Liye Kuchh Aaftab Maange Hain,
Apne Liye Humne Dost Kuchh Khaas Maange Hain,
Jab Bhi Dua Mein Kuchh Maanga Hain Rab Se,
Toh Aapke Liye Khushi Bhare Lamhat Maange Hain.
अंधेरों के लिए कुछ आफताब माँगे हैं,
अपने लिए हमने दोस्त कुछ ख़ास माँगे हैं,
जब भी दुआ में कुछ माँगा है रब से,
तो आपके लिए ख़ुशी भरे लम्हात माँगे हैं।

Article Categories:
Friendship Dosti Shayari
banner

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

The maximum upload file size: 32 MB. You can upload: image, audio, video, document, text, other. Links to YouTube, Facebook, Twitter and other services inserted in the comment text will be automatically embedded.