banner
May 13, 2021
20 Views
0 0

Four Line Shayari – Ishq Hamein Ye

Written by
banner

Ishq Hamein Ye Kis Mod Par Le Aaya Hai,
Kadam Kadam Par Mujhko Mila Tera Saya Hai,
Dil Ko Bahlane Kis Taraf Jaayein Ham,
Har Taraf Sanam Teri Yaadon Ki Chhaya Hai.

इश्क़ हमें ये किस मोड़ पर ले आया है,
कदम कदम पर मुझको मिला तेरा साया है,
दिल को बहलाने किस तरफ जाएँ हम,
हर तरफ सनम तेरी यादों की छाया है।

Apne Hatho Se Chehre Ko Chupate Kyu Ho?
Sharmate Ho Toh Samne Aate Kyu Ho?
Tum Meri Tarah Bhi Kar Do Ikrar-E-Wafa
Pyar Karte Ho To Fir Chhupate Kyu Ho.

अपने हाथों से चेहरे को छुपाते क्यों हो
शरमाते हो तोह सामने आते क्यों हो?
तुम मेरी तरह भी कर दो इक़रार-ए-वफ़ा
प्यार करते हो तो फिर छुपाते क्यों हो।

Dil Mein Basa Liya Aur Humein Bataya Bhi Nahi,
Sath Rhne Ka Khwab Saja Liya Or Hume Btaya Bhi Nhi
Ab Bhi Dekhte Ho Khamoshi Bhari Nigahon Se,
Chupke Se Dil Chura Liya Aur Humein Bataya Bhi Nhi.

दिल में बसा लिया और हमें बताया भी नहीं,
साथ रहने का ख्वाब सजा लिया और हमें बताया भी नहीं
अब भी देखते हो खामोशी भरी निगाहों से,
चुपके से दिल चुरा लिया और हमें बताया भी नहीं।

Article Categories:
Four Line Shayari
banner

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

The maximum upload file size: 32 MB. You can upload: image, audio, video, document, text, other. Links to YouTube, Facebook, Twitter and other services inserted in the comment text will be automatically embedded.