banner
May 13, 2021
21 Views
0 0

Dua Shayari – Dil Se Dua

Written by
banner

Hajaar Baar Jo Maanga Karo Toh Kya Haasil,
Dua Wahi Hai Jo Dil Se Kabhi Nikalti Nahi.
हज़ार बार जो माँगा करो तो क्या हासिल,
दुआ वही है जो दिल से कभी निकलती है।

Ulfat-e-Yaar Mein Khuda Se Aur Maangun Kya,
Yeh Dua Hai Ke Tu Duaon Ka Bhi Mohtaaj Na Ho.
उल्फत-ए-यार में खुदा से और माँगू क्या,
ये दुआ है कि तू दुआओं का मोहताज न हो।

Laut Aati Hai Har Baar Dua Meri Khaali,
Jaane Kitni Unchai Par Khuda Rehta Hai.
लौट आती है हर बार दुआ मेरी खाली,
जाने कितनी ऊँचाई पर खुदा रहता है।

Dil De Toh Iss Mizaaj Ka ParvarDigar De,
Jo Ranj Ki Ghadi Bhi Khushi Se Gujaar De.
दिल दे तो इस मिज़ाज का परवरदिगार दे,
जो रंज की घड़ी भी ख़ुशी से गुज़ार दे।

Na Jaane Kisne Parhi Hai Mere Haq Mein Duaa,
Aaj Tabiyat Mein Jara Aaram Sa Hai.
न जाने किसने पढ़ी है मेरे हक़ में दुआ,
आज तबियत में जरा आराम सा है।

Article Categories:
Dua Shayari
banner

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

The maximum upload file size: 32 MB. You can upload: image, audio, video, document, text, other. Links to YouTube, Facebook, Twitter and other services inserted in the comment text will be automatically embedded.