banner
May 12, 2021
22 Views
0 0

Dil Shayari – Kisi Patthar Dil Se HumKo

Written by
banner

काश उसे चाहने का अरमान न होता,
मैं होश में रहते हुए अनजान न होता,
ना प्यार होता किसी पत्थर दिल से हमको,
या फिर कोई पत्थर दिल इंसान न होता।
Kaash Usey Chahne Ka Armaan Na Hota,
Main Hosh Mein Rehte Huye Anjaan Na Hota,
Na Pyar Hota Kisi Patthar Dil Se HumKo,
Ya Fir Koi Patthar Dil Insaan Na Hota.

किसी के दिल में बसना कुछ बुरा तो नहीं,
किसी को दिल में बसाना कोई खता तो नहीं,
गुनाह हो यह ज़माने की नजर में तो क्या,
ज़माने वाले इंसान हैं कोई खुदा तो नहीं।
Kisi Ke Dil Mein Basna Kuchh Bura To Nahi,
Kisi Ko Dil Mein Basaana Koi Khata To Nahi,
Gunaah Ho Ye Zamane Ki Najar Mein To Kya,
Zamane Wale Insaan Hain Koi Khuda To Nahi.

आँखों में तेरी डूब जाने को दिल चाहता है,
इश्क में तेरे बर्बाद होने को दिल चाहता है,
कोई संभाले बहक रहे हैं मेरे कदम,
वफ़ा में तेरी मर जाने को दिल चाहता है।
Aankhon Mein Doob Jane Ko Dil Chahta Hai,
Ishq Mein Barbad Hone Ko Dil Chahta Hai,
Koi Sambhale Bahek Rahe Hain Mere Kadam,
Wafa Mein Teri Mar Jane Ko Dil Chahta Hai.

तू ही बता दिल कि तुझे समझाऊं कैसे,
जिसे चाहता है तू उसे नज़दीक लाऊँ कैसे,
यूँ तो हर तमन्ना हर एहसास है वो मेरा,
मगर उसको ये एहसास दिलाऊं कैसे।
Tu Hi Bata Dil Tujhe Samjhaaun Kaise,
Jise Chahta Hai Tu Usey Nazdeek Laaun Kaise,
Yoon To Har Tamanna Har Ehsaas Hai Wo Mera,
Magar Usko Ye Ehsaas Dilaaun Kaise.

Article Categories:
Dil Shayari
banner

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

The maximum upload file size: 32 MB. You can upload: image, audio, video, document, text, other. Links to YouTube, Facebook, Twitter and other services inserted in the comment text will be automatically embedded.