banner
May 6, 2021
19 Views
0 0

Dard Shayari – Mere Dil Ke Dard

Written by
banner

Mere Dil Ke Dard Ko Kisne Dekha Hai,
Mujhe Bas Mere Khuda Ne Tadapte Dekha Hai,
Ham Tanhai Mein Baithe Rote Hain,
Logon Ne Hame Mahafil Mein Hanste Dekha Hai.

मेरे दिल के दर्द को किसने देखा है,
मुझे बस मेरे खुदा ने तड़पते देखा है,
हम तन्हाई में बैठे रोते हैं,
लोगों ने हमे महफ़िल में हँसते देखा है।

Tere Paas Aane Ko Jee Chahta Hai,
Phir Se Dard Sahne Ko Jee Chahta Hai,
Aazma Chuke Hain Ab Zamane Ko Ham,
Bas Tujhe Aazmane Ko Jee Chahta Hai.

तेरे पास आने को जी चाहता है,
फिर से दर्द सहने को जी चाहता है,
आज़मा चुके हैं अब ज़माने को हम,
बस तुझे आज़माने को जी चाहता है।

Toote Jo Dil To Dukh Hota Hai,
Karke Pyar Use Dil Ab Bhi Rota Hai,
Dard Ka Ehsaas Hota Hai Sirf Usko,
Jo Muhabbat Ko Paane Ke Baad Khota Hai.

टूटे जो दिल तो दुःख होता है,
करके प्यार उसे दिल अब भी रोता है,
दर्द का एहसास होता है सिर्फ उसको,
जो मुहब्बत को पाने के बाद खोता है।

Article Categories:
Dard Shayari
banner

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

The maximum upload file size: 32 MB. You can upload: image, audio, video, document, text, other. Links to YouTube, Facebook, Twitter and other services inserted in the comment text will be automatically embedded.