banner
May 5, 2021
27 Views
0 0

Dard Bhari Shayari – Dard Ka Anjaam

Written by
banner

Gulshan Ki Baharon Pe Sar-e-Shaam Likha Hai,
Phir Uss Ne Kitabon Pe Mera Naam Likha Hai,
Yeh Dard Isee Tarah Meri Duniya Mein Rahega,
Kuchh Soch Ke Uss Ne Mera Anjaam Likha Hai.
गुलशन की बहारों पे सर-ए-शाम लिखा है,
फिर उस ने किताबों पे मेरा नाम लिखा है,
ये दर्द इसी तरह मेरी दुनिया में रहेगा,
कुछ सोच के उस ने मेरा अंजाम लिखा है।

Diya Diye Se Jala Loon Toh Chain Aaye Mujhe,
Tumhein Gale Se Laga Loon Toh Chain Aaye Mujhe,
Mohabbton Ke Saheefay Hain Ya Azaab Koi,
Tere Khaton Ko Jala Loon Toh Chain Aaye Mujhe.
दिया दिए से जला लूं तो सुकून आये मुझे,
तुम्हें गले से लगा लूं तो चैन आये मुझे,
मोहब्बतों के सहीफ़े हैं या अज़ाब कोई,
तेरे खतों को जला लूं तो चैन आये मुझे।

Rone Ki Saza Na Ye Rulaane Ki Saza Hai,
Ye Dard Mohabbat Ko Nibhane Ki Saza Hai,
Hansti Huyi Aankhon Mein Aa Jate Hain Aansoo,
Ye Uss Shakhs Se Dil Lagane Ki Saza Hai.
रोने की सजा है न ये रुलाने की सजा है,
ये दर्द मोहब्बत को निभाने की सजा है,
हँसती हुई आँखों में आ जाते हैं आँसू,
ये उस शख्स से दिल लगाने की सजा है।

Parinde Laut Ke Jab Ghar Ko Aane Lagte Hain,
Humein Bhi Yaad Dar-o-Baam Aane Lagte Hain,
Jo Sunte Hain Ke Tere Dil Mein Koi Doosra Hai,
Hum Chupchap Apna Dard Dabaane Lagte Hain.
परिंदे लौट के जब घर को जाने लगते हैं,
हमें भी याद दर-ओ-बाम आने लगते हैं,
जो सुनते हैं कि तेरे दिल में कोई दूसरा है,
हम चुपचाप अपना दर्द दबाने लगते हैं।

Article Categories:
Dard Bhari Shayari
banner

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

The maximum upload file size: 32 MB. You can upload: image, audio, video, document, text, other. Links to YouTube, Facebook, Twitter and other services inserted in the comment text will be automatically embedded.