banner
Apr 29, 2021
21 Views
0 0

Attitude Shayari – Mujhe Nakam Hone Do

Written by
banner

Abhi Suraj Nahi Dooba Zara Si Shaam Hone Do,
Main Khud Hi Laut Jaunga Mujhe Nakam Hone Do,
Mujhe Badnaam Karne Ka Bahana Dhundhte Kyun Ho,
Main Khud Ho Jaunga Badnaam Pehle Naam Hone Do.
अभी सूरज नहीं डूबा जरा सी शाम होने दो,
मैं खुद लौट जाऊंगा मुझे नाकाम तो होने दो,
मुझे बदनाम करने का बहाना ढूँढ़ते क्यों हो,
मैं खुद हो जाऊंगा बदनाम पहले नाम होने दो।

Kehte Hain Har Baat Jubaan Se Hum Ishara Nahi Karte,
Aasman Par Chalne Wale Zamin Se Gujara Nahi Karte,
Har Halat Ko Badlne Ki Himmat Hai Hum Mein,
Waqt Ka Har Faisla Hum Ganwara Nahi Karte.
कहते है हर बात जुबां से हम इशारा नहीं करते,
आसमान पर चलने वाले जमीं से गुज़ारा नहीं करते,
हर हालात को बदलने की हिम्मत है हम में,
वक़्त का हर फैसला हम गंवारा नहीं करते।

Hum Achhe Sahi Par Log Kharab Kehte Hain,
Iss Desh Ka Bigda Hua Humein Nawab Kehte Hain,
Hum Aise Badnaam Huye Iss Shahar Mein,
Ke Paani Bhi Piyein Toh Log Use Sharab Kehte Hain.
हम अच्छे सही पर लोग ख़राब कहतें हैं,
इस देश का बिगड़ा हुआ हमें नवाब कहते हैं,
हम ऐसे बदनाम हुए इस शहर में,
कि पानी भी पिये तो लोग उसे शराब कहते हैं।

Article Categories:
Attitude Shayari
banner

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

The maximum upload file size: 32 MB. You can upload: image, audio, video, document, text, other. Links to YouTube, Facebook, Twitter and other services inserted in the comment text will be automatically embedded.