banner
Apr 29, 2021
21 Views
0 0

Attitude Shayari – Anjaam Ki Parwaah

Written by
banner

Zamin Par Rah Kar Aasmaan
Chhune Ki Fitrat Hai Meri,
Par Gira Kar Kisi Ko
Upar Uthane Ka Shauk Nahi Mujhe.
ज़मीं पर रह कर आसमां
छूने की फितरत है मेरी,
पर गिरा कर किसी को,
ऊपर उठने का शौक़ नहीं मुझे।

Humari Haisiyat Ka Andaza,
Tum Yeh Jaan Ke Laga Lo,
Hum Kabhi Unke Nahi Hote,
Jo Har Kisi Ke Ho Gaye.
हमारी हैसियत का अंदाज़ा,
तुम ये जान के लगा लो,
हम कभी उनके नहीं होते,
जो हर किसी के हो गए।

Anjaam Ki Parwaah Hoti Toh,
Hum Mohabbat Karna Chhod Dete,
Mohabbat Mein Toh Zid Hoti Hai,
Aur Zid Ke Bade Pakke Hain Hum.
अंजाम की परवाह होती तो,
हम मोहब्बत करना छोड़ देते,
मोहब्बत में तो जिद्द होती है,
और जिद्द के बड़े पक्के हैं हम।

Hum Woh Hain Jo Aankhon Mein
Jhaank Ke Sach Jaan Lete Hain,
Mohabbat Hai Isliye Tere
Jhoothh Ko Sach Maan Lete Hain.
हम वो हैं जो आँखों में
झाँक के सच जान लेते हैं,
मोहब्बत है इसलिये तेरे
झूठ को सच मान लेते हैं।

Article Categories:
Attitude Shayari
banner

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

The maximum upload file size: 32 MB. You can upload: image, audio, video, document, text, other. Links to YouTube, Facebook, Twitter and other services inserted in the comment text will be automatically embedded.