banner
Apr 29, 2021
3 Views
0 0

Attitude Shayari – Hum Zamane Ko Badal Dete Hain

Written by
banner

नाज़ क्या इस पे जो बदला ज़माने ने तुम्हें,
हम हैं वो जो ज़माने को बदल देते हैं।
Naaz Kya Iss Pe Jo Badla Zamane Ne Tumhein,
Hum Hain Wo Jo Zamane Ko Badal Dete Hain.

संभल कर किया करो लोगो से बुराई मेरी,
तुम्हारे तमाम अपने मेरे ही मुरीद हैं।
Sambhal Kar Kiya Karo Logo Se Buraai Meri,
Tumhare Tamaam Apne Mere Hi Mureed Hain.

बेमतलब की ज़िन्दगी का सिलसिला ख़त्म,
अब जिस तरह की दुनिया उस तरह के हम।
Be-Matlab Ki Zindagi Ka SilSila Khatm,
Ab Jis Tarah Ki Duniya Uss Tarah Ke Hum.

अपनी हर फतह पर इतना गुरूर मत कर,
मिट्टी से पूछ आज सिकंदर कहाँ है।
Apni Har Fatah Par Itna Guroor Mat Kar,
Mitti Se Poochh Aaj Sikandar Kahan Hai.

इलाज ये है कि मजबूर कर दिया जाऊँ,
वगरना यूँ तो किसी की नहीं सुनी मैंने।
ilaaj Ye Hai Ke Majboor Kar Diya Jaaun,
Vagrana Yoon To Kisi Ki Nahi Suni Maine.

बिना मेरे रह ही जाएगी कोई न कोई कमी,
तुम ज़िन्दगी को जितनी मर्जी सँवार लेना।
Bina Mere Reh Hi Jayegi Koi Na Koi Kami,
Tum Zindagi Ko Jitni Marji Sanwaar Lena.

Article Categories:
Attitude Shayari
banner

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

The maximum upload file size: 32 MB. You can upload: image, audio, video, document, text, other. Links to YouTube, Facebook, Twitter and other services inserted in the comment text will be automatically embedded.